खुशी..

दिल बदल, शाम बदल

मुस्कराने की थोड़ी वजह बदल।

                         खुशी तो तेरे दिल में है।।

 

आश बदल, उम्मीद बदल 

अपनी थोड़ी आदत बदल।

                         खुशी तो तेरे अपने में है।।

 

हाल बदल, चाल बदल

अपना थोड़ा अभिमान बदल।

                          खुशी तेरे होने में है।। 

                                               By Rekha Agarwal